Saturday, July 2, 2016

30 अक्टूबर के बाद शहर में यूरो-2 के आॅटो लोडर नहीं चलेंगे

आॅटो लोडर के डीजल इंजन को सीएनजी में कराने का मौका
 सम्भागीय परिवहन अधिकारी जगदीश सिंह कुशवाह ने अवगत कराया है कि टीटीजेड के पूर्व में निर्णयानुसार वर्ष 2005-2006, 2006-2007 तक के यूरो-2 वाले आॅटो लोडर (जीबीडब्ल्यू-3000 कि0ग्रा तक) 31 मार्च 2016 के बाद नगर निगम सीमा में संचालन से बाहर किया जा चुका है। अपर जिलाधिकारी (नगर) की अध्यक्षता एवं पुलिस अधीक्षक (नगर) की उपस्थिति, आॅटो लोडर यूनियन के पदाधिकारियों की मौजूदगी में 21 जून को पुनः आॅटो लोडर संचालन के सम्बन्ध में बैठक की गयी। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि यूरो-2 के आॅटो लोडर, जो नगर निगम सीमा में 31 मार्च के बाद बाहर किये गये थे यदि सीएनजी से इंजन प्रतिस्थापित करा लेते हैं तो उन्हें शहर के अन्दर चलाने की अनुमति दे दी जायेगी। उन्होंने बताया कि 01 अप्रैल 2007 से 31 मार्च 2010 के मध्य पंजीकृत यूरो-2 डीजल चलित आॅटो लोडर को शहर सीमा में संचालन की तिथि 30 अक्टूबर 2016 तक नियत की गयी है। इस अवधि में अपने आॅटो लोडर के डीजल इंजन को सीएनजी से प्रतिस्थापित करा लें अन्यथा 30 अक्टूबर के बाद कोई भी यूरो-2 के आॅटो लोडर शहर सीमा में संचालित नहीं होगा। 

No comments: