Thursday, April 26, 2012

कर्मशील को मिलती है सफलता

जीवन में लक्ष्य को हासिल करने के लिए कर्मशील होना परम आवश्यक है. आलसी और अकर्मण्य मनुष्य जीवन में कभी भी सफल नहीं हो सकता है. भाग्य के सहारे बेठे रहने वालों को भी कुछ हासिल नहीं होता है. हमारे धर्म ग्रंथों में भी कहा गया है कि जो मनुष्य जीवन भर कर्मशील बना रहता है वही सफलता के शिखर पर पहुँचता है. धर्म ग्रंथों के अनुसार कर्म धर्म का ही रूप है और सद्कर्म मोक्ष प्राप्ति का मार्ग है. इसीलिए हमें जीवन भर कर्म करते हुए जीवन को सुखी और संपन्न बनाना चाहिए. -- प्रमोदकुमार अग्रवाल

No comments: