Wednesday, February 29, 2012

विद्युत् विभाग हर्जाना देने के लिए ज़िम्मेदार

विद्युत् विभाग द्वारा लगाये गए बिजली के तारों के अचानक टूटने, उनमें स्पार्किंग होने अथवा अन्य कारणों से यदि किसी के जान और माल को नुक्सान पहुँचता है तो विद्युत् विभाग प्रभावित पक्षकार को समुचित हर्जाना देने के लिए ज़िम्मेदार है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक रिट याचिका  को निस्तारित करते  हुए कहा है कि  यदि पीड़ित पक्षकार को  हुए नुकसान के बदले  में कम हर्जाना मिलता है तो वह हर्जाने की अधिक  धनराशी  प्राप्त करने  के लिए अपने क्षेत्राधिकार वाले जिला जज  के न्यायालय में प्रार्थना- पत्र दे सकता है.(2011 (2)एएलजे 729) 

No comments: