Wednesday, June 8, 2011

प्रदूषणमुक्त धरती से बचेगा जीवन

पांच जून को हम सबने विश्व  पर्यावरण दिवस मनाया और अपने पर्यावरण को हरा-भरा और प्रदूषणमुक्त बनाये रखने का संकल्प लिया. संकल्प लेने मात्र से ही अपने पर्यावरण को   प्रदूषणमुक्त बनाये  रखना कदापि संभव नहीं है. इसके लिए हमें वास्तव में ऐसे  कदम उठाने की आवश्यकता है जिससे हमारा पर्यावरण प्रदूषणमुक्त  रहे और हम शुद्ध हवा में सांस  ले सकें. हमें याद रखना चाहिए  कि जब तक  हमारी धरती  है, हमारा अस्तित्व है.  अपनी धरती को हरा-भरा बनाने के लिए वृहद् वृक्षारोपण किया  जाना आवश्यक है. जल के प्राकृतिक स्रोतों को  प्रदूषणमुक्त बनाने की पहल किया जाना, जल के अनावश्यक दोहन को रोकना, वायु प्रदुषण पर अंकुश लगाना, घातक रसायनों के अनुचित  प्रयोग पर पाबन्दी लगाना समय की ज़रुरत है.  यदि हम वास्तव में अपने पर्यावरण  के शुभ चिन्तक हैं तो हमें  सिर्फ बातें करने या फिर बैठकें अथवा सम्मेलन आयोजित करने की बजाय अपने पर्यावरण  को  प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए स्वयं आगे आना होगा और अपने तथा आने वाली पीढी के जीवन को बचाना होगा. -- प्रमोद कुमार अग्रवाल.

No comments: